PeepingMoon Exclusive: 26/11 अटैक को याद कर कोंकणा सेन शर्मा ने कहा, 'शुरू- शुरू में तो पता भी नहीं चल रहा था कि क्या हो रहा है, हम मुंबई में नहीं थे बाहर गए हुए थे'

By  
on  

26 नवम्बर 2008 को मुंबई पर जो आतंकी हमला हुआ था, उसमें देश के फ्रंट लाइन वर्कर्स ने किस तरह अपनी परवाह किये बिना मासूम लोगों की जान बचायी थी इसपर एक सीरीज रिलीज हुई है जिसका नाम 'मुंबई डायरीज' है. 'मुंबई डायरीज़ 26/11' में कोंकणा सेन शर्मा एक अस्पताल में अधिकारी के किरदार में नज़र आ रही हैं. कोंकणा पहली बार किसी वेब सीरीज में नजर आ रही हैं. 'मुंबई डायरीज़ 26/11' को लेकर कोंकणा ने पीपिंगमून.कॉम से बातचीत की. 

पेश हैं इस बातचीत के अंश: 

यह पहली सीरीज है जो फ्रंट लाइन वर्कर्स और मेडिकल स्टाफ के एंगल से दिखाई जाएगी, जब आपको सीरीज ऑफर हुयी, फर्स्ट रिएक्शन क्या था आपका?

जवाब: मैं तो शुरू से बहुत एक्साइटेड थी क्योंकि मैंने कभी वेब सीरीज नहीं की थी इससे पहले और 26/ 11 के ऊपर पहले फिल्में आ चुकी है मैंने नहीं देखा है. मेरे ख्याल से पहली बार हम देख रहे हैं एक हॉस्पिटल को सेंटर करके. डॉक्टर नर्सेज, वॉर्ड बॉयज इन सबकी लाइफ पर है ये इश्यू. फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए यह श्रद्धांजलि है. मुझे लगता है कि ये एक ऐसी चीज है जो अब रेलेवेंट हो गयी है, इसके लिए पेंडेमिक का शुक्रगुजार होना चाहिए. हम सबको एक एप्रिसिएशन हुयी है कि फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए कितना मुश्किल रहा है ये. 

जब आप इस सीरीज की शूटिंग कर रही थी फ्रंटलाइन वर्कर्स और मेडिकल स्टाफ को लेकर आपके मन में क्या चल रहा था. क्यूंकि उनकी भी फैमिली होती है, डरे वो भी होते है लेकिन उस चीज को चेहरे पर नहीं ला सकते ?  

जवाब: मैं 26/ 11 से अच्छी तरह वाकिफ हूं क्यूंकि कई सालों से मैं मुंबई में ही रह रही हूं लेकिन मैंने कभी उनके नजरिये से नहीं देखा क्योंकि उनका जीवन बहुत मुश्किल जॉब है. हां, उनका निजी जीवन है, मुश्किलें है, वो भी परेशानियों से गुजर रहे हैं. वो सरकारी अस्पताल में काम कर रहे हैं. कोई इस तरह की चीजों को डील करने के लिए ट्रेन्ड नहीं होता. ये कोई डाक्यूमेंट्री नहीं है हमने फिक्शनलाइज किया है. कोई भी डॉक्टर या नर्स ऐसी चीजों के लिए प्रिपेयर नहीं होता. मेरे लिए भी ये बहुत इंस्पायरिंग था और दूसरे पर्स्पेक्टिव से समझने के लिए योग्य था. 

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Konkona Sensharma (@konkona)

 

ट्रेलर में मीडिया का एंगल भी दिखाया गया है कि किस तरह मीडिया ने कवरेज की थी और 26/11 की रात इंडियन न्यूज़ चैनल्स द्वारा की गई लाइव रिपोर्टिंग की भी काफी आलोचना हुई थी, आपकी इसपर क्या राय है ?

जवाब: देखिये ये तो एक प्रॉब्लम है न्यूज़ मीडिया में. क्योंकि क्या आप सच दिखा रहे हो, क्या आप वन साइडेड स्टोरी दिखा रहे हो और स्टोरी कवर करने के इमसें क्या आप सही खबर दिखा रहे हो. ये एक आइए इश्यू है जो पूरी दुनिया में है. मेरे ख़याल से ये एक ऐसी चीज है जिसपर हमें बात करनी चाहिए. न्यूज़ मीडिया एक जैसी नहीं है, कुछ सही इन्फॉर्मेशन देती है तो कुछ फेक देती है. 

क्या आप उस मोमेंट को रिकॉल कर सकती है जब आपको अटैक के बारे में पता चला था तब आप कहां थी ?

जवाब: मैं उस समय मुंबई में नहीं थी हम थोड़ा बाहर गए हुए थे लेकिन जब पता चला तो हर कोई हैरान था क्योंकि शुरू- शुरू में तो पता भी नहीं चल रहा था कि क्या हो रहा है. यह समझना बहुत मुश्किल था कि क्या हो रहा है. क्या हमारे लिए वापस आना सुरक्षित है. हम कुछ दिन बाद वापस आ गए थे. 

एक डायरेक्टर के तौर पर 'डेथ इन द गूंज' आपकी पहली फिल्म थी.आपके फैंस को आपके डायरेक्शन में बनी फिल्म कब देखने को मिलेगी ?

जवाब: मुझे नहीं पता कि मैं अगली फिल्म कब डायरेक्ट करूंगी (हंसते हुए). दरअसल, हो क्या रहा है कि प्राथमिक रूप से मैं एक्टर हूं. मैं लकी रही हूं मुझे अच्छे अच्छे रोल्स मिले है. अब लगता है कि ये रोल्स मिल रहे हैं तो ये कर लेते हैं पहले. मेरा 10 साल का बेटा भी है तो में थोड़ा बीजी रही हूं. डायरेक्शन के तौर पर मुझे लगता है कि इसमें बहुत काम होता है. मैं तब करूंगी जब सही समय होगा. जब मुझे लगेगा कि नहीं मुझे ये कहानी बतानी है तब मैं करूंगी. 

निखिल आडवाणी और निखिल गोंसाल्विस लिखित-निर्देशित मुंबई डायरीज़ 26/11 प्राइम पर आज रिलीज हो गयी है. सीरीज़ में कोंकणा के अलावा मोहित रैना, श्रेया धन्वंतरि, टीना देसाई, सत्यजीत दुबे अहम किरदारों में नज़र आएंगे. 

 

Read More
Tags
Loading...

Recommended