PeepingMoon Exclusive: 7 साल के स्ट्रगल के बाद श्लोका पंडित को मिली थी पहली फिल्म 'हैलो चार्ली', बताया इन एक्टर्स को मानती है आइडल

By  
on  

हाल ही में अमेजॉन प्राइम पर रिलीज हुई फिल्म 'हैलो चार्ली' से अपना डेब्यू करने वाली खूबसूरत एक्ट्रेस श्लोका पंडित ने काफी वाहवाही लूटी.  श्लोका ने अपनी पहली ही फिल्म में साबित कर दिया की वे इंडस्ट्री में लम्बी पारी खेलने आई है. पर श्लोका का बॉलीवुड में आने तक का सफल इतना आसान नहीं था. 7 साल की कड़ी मशक्कत के बाद श्लोका को ये मौका मिला था. पीपिंगमून के साथ खास बातचीत के दौरान श्लोका ने बताया की अपने सपने को पूरा करने के लिए कैसे उन्होंने 17 साल की उम्र से मेहनत करनी शुरू कर दी थी. साथ ही श्लोका ने ये भी बताया की बॉलीवुड में वे किसको अपना आइडल मानतीं है. 
 
सवाल- 'हैलो चार्ली' से आपने अपनी बॉलीबुड डेब्यू किया था, कितना चेंज आया उसके बाद लाइफ में ?
जवाब- मैं सच कहूं तो मैं इस मामले में बहुत लकी रही हो कि, यह फिल्म लॉकडाउन से पहले रिलीज हो गई थी. क्योंकि अगर यह फिल्म लॉकडाउन के बाद रिलीज होती तो वो टाइम सही नहीं था फिल्म को रिलीज करने के लिए. इस फिल्म के ट्रेलर के लॉन्च के दौरान में पूरी मीडिया से इंटरेक्ट हुई थी. सब कुछ बहुत अच्छा लग रहा था. हां फिल्म की रिलीज के बाद कुछ बदलाव आया है लोगों ने मेरे काम को नोटिस किया है. आई एम वेरी लकी कि मुझे यह फिल्म मिली. ये मेरे लिए आगे की राह के लिए नई रोशनी मिलने जाता है. 

PeepingMoon Exclusive: 'दमदार कास्ट और अच्छे माहौल में काम करने से आपके काम पर बहुत फर्क पड़ता है'- 'शेरनी' फेम मुकुल चड्ढा

सवाल- सबका अपना एक स्ट्रगल होता, आपको कैसे अपना पहला प्रोजेक्ट मिला था, काफी स्ट्रगल करना पड़ा या फिर किस्मत ने साथ दिया और आसानी से बात बन गई?
जवाब- मैं बचपन से ही अभिनेत्री बनना चाहती थी इसलिए मैं लगातार ऑडिशन दे रही थी. करीब सात साल का स्ट्रगल रहा है. मुझे फिल्मों में काम करना ही था, चाहें जैसे भी हो. लेकिन बात कुछ बन नहीं रही थी रिजेक्शन मिल रहे थे. ऐसे में जिस कास्टिंग एजेंसी को मैं ऑडिशन दे रही थी, वहां पर हैलो चार्ली की कास्टिंग चल रही थी. तो मैंने ऑडिशन दिया और फिर आदर के साथ रीडिंग भी हुई. हालांकि मेरे साथ ही बाकी लड़कियों के भी ऑडिशन चल रहे  थे, तो पता नहीं था कि नंबर कब लगेगा और लगेगा भी कि नहीं. लेकिन सात साल बाद किस्मत खुल गई और ये फिल्म मेरे हाथ आई. मैं खुशकिस्मत हूं कि मुझे इतनी बढ़िया फिल्म, बढ़िया कास्ट और बढ़िया निर्देशक के साथ काम करने को मिला. राजपाल यादव, जैकी श्रॉफ जैसे एक्टर्स के साथ काम करना बहुत ही यादगार अनुभव रहा, बहुत कुछ सीखने को मिला.

सवाल - आप अपने बारे में कुछ बताए ? और कहा से है और एक्टिंग की और कैसे झुकाव हुआ ?
जवाब- मेरा जन्म लंदन में हुआ था. जब मैं 7 साल की थी तब हम मुंबई शिफ्ट हुए. विकें हाइ से मेरी स्कूलिंग हुई है. जयहिन्द कॉलेज से अंडर ग्रेजुएट किया है. 17 साल की उम्र से ही मैंने एक्टिंग में अपनी तैयारी शुरू कर दी. मैंने अस्सिटेंट डायरेक्टर, इंटर्न के तौर पर काम करना कास्टिंग आफिसेज में शुरू कर दिया था. एक्टिंग की वजह से मैंने अपना बीबीए में ग्रेजुएशन ऑनलाइन ही किया था. बचपन से ही एक्ट्रेस बनने का ख्वाब था. मैं शुरू से ही एक्ट्रेस बनना चाहती थी, मुझे कभी और कोई दूसरा ख्याल ही नहीं आया कि मुझे इसके अलावा और कुछ करना है. बचपन से ही एक कीड़ा था कि मुझे एंटरटनेमेंट वर्ल्ड में ब्लास्ट करना है. ऐसे में मैंने शुरू से ही इसके लिए मेहनत की और कभी भी इसके अलावा कुछ और सोचा ही नही. 
 मुझे खुद पर पूरा भरोसा था. मैंने ऐसे लोगों से बात करना बंद कर दिया जो मुझे डेमोटिवेट करते थे. मैंने खुद पर काम जारी रखा और फिर यूनिवर्स का भी अपना नियम है कि अगर आप किसी चीज़ को शिद्दत से चाहते हो तो वो आपको मिल ही जाती है. मैं अपने परिवार की भी शुक्रगुज़ार हूं. वो हमेशा मुझे कहते थे कि तुम कर लोगी और वाकई मेरी मेहनत रंग लायी और मुझे ये फ़िल्म मिल गयी. पर हां मैं ये भी बताना चाहूगी कि मेरी फैमिली में सभी को म्यूजिक और आर्ट से लगाव है.एक्टिंग का कीड़ा बस मुझमें ही आया. एक्टिंग की बारीकियों को सीखने के लिए अनुपम खेर एक्टिंग स्कूल और नीरज काबी सर के साथ भी मेरी ट्रेनिंग हुई है.

सवाल-  एक्टिंग  में आप किसे अपना आइडल किसे मानती हैं ?
जवाब- लिस्ट बहुत लम्बी है पर हां एक्ट्रसेस में मैं करीना कपूर खान और शेफाली शाह की बहुत बड़ी वाली फैन हूं. इन को बड़े पर्दे पर देखती हूं तो नजर नहीं हटा पाती हूं. मैं करीना और शेफाली के काम की दीवानी हू. ये दोनों कमाल की अदाकारा हैं. वहीं एक्टर में रणवीर सिंह मेरे दिल के बहुत करीब हैं. मुझे उनसे प्यार है. वो जो भी करते है परफेक्ट करते है और रितिक रोशन को मैं एक्टिंग का मास्टर मानती हूं.

 

Read More
Tags
Loading...

Recommended