Exclusive: आमिर खान ने कहा "श्रीदेवी पर था मेरा बड़ा क्रश और उनके साथ करना चाहता था यह फिल्म"

By  
on  

बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान ने अपनी सबसे बड़ी दिवाली रिलीज 'ठग्स ऑफ हिंदोस्तान' के सिलसिले में पिछले दिनों बात करते हुए अपनी बड़ी क्रश और बॉलीवुड की सबसे खूबसूरत एक्ट्रेस रह चुकी श्रीदेवी के बारे में खुलासा किया. दरअसल, सुपरस्टार उन सितारों के बारे में बात कर रहे थे जिनसे उन्हें बेहद लगाव है और अमिताभ बच्चन जो कि उनकी वाली फिल्म में को-स्टार हैं वह सबसे पहले आते हैं. फिर, थोड़ा विचार और कुछ हिचकिचाहट के बाद, उन्होंने खुलासा किया कि श्रीदेवी एक और कलाकार थीं, जिन्हे वह काफी पसंद किया करते थे.

आमिर ने श्रीदेवी के बारे में कहा, "मैं उनका एक बड़ा फैन था और उनपर मेरा बड़ा क्रश था. पहली बार वह श्रीदेवी से एक एक्टर बनने के बाद मिले थे और वह भी एक मैगज़ीन कवर के शूट के लिए. आमिर खान ने याद कर बताया कि यह शूट पुराने सेंटौर होटल में हुआ था और उस दौरान मैंने श्रीदेवी की आंखों में देखने से बचने के लिए अपनी पूरी कोशिश की थी." आगे आमिर कहते हैं "अगर मुझे उनकी आंखों में देखना पड़ता तो उन्हें पता चल जाता कि मुझे उनपर क्रश है!"

आमिर खान ने शाहरुख से की उनके घर पर मुलाकात, कहा ‘जीरो’ का ट्रेलर...

लेकिन वह उस फोटो शूट से दूर आए, इसलिए क्योंकि वह श्रीदेवी की शांत व्यक्तित्व, सुंदरता और आकर्षण से मोहक हो चुके थे और इस तरह से आमिर खान दक्षिण की लेजेंडरी एक्ट्रेस के साथ फिल्म में काम करना चाहते थे. वह महेश भट्ट के पास पहुंचे और उनकी उत्तेजना ने फिल्म मेकर को परेशान कर दिया.

आमिर खान कहते हैं कि "मेरे दिमाग में यह बात पहले से ही थी कि मुझे श्रीदेवी के साथ किस तरह की फिल्म करनी है. "यह 1953 की हॉलीवुड रोमांटिक कॉमेडी रोमन हॉलिडे थी जिसमें ग्रेगरी पेक एक रिपोर्टर और ऑड्रे हेपबर्न एक शाही राजकुमारी की भूमिका में थी. जो कि अपनी सुरक्षा को छोड़ और प्रोटोकॉल को फेंकर अपने आप में रोम घूमने निकलती है. जिसके बाद वह पेक से मिलती है जो उसे पहचान लेता है और फिर साथ में दोनों खुद मस्ती करते हैं लेकिन फिल्म में काहिर तक पेक अपनी पहचान छुपाए रखता है."

भट्ट साब ने आमिर खान की पूरी बात चुपचाप सुनी और फिर उन्होंने अपनी शेल्फ से एक किताब खींच कर निकाली और 1934 की हॉलीवुड रोमांटिक कॉमेडी इट हैप्डेन वन नाइट की कहानी दिखाई. आमिर ने कहा, "और इसी तरह उन्होंने 1991 में पूजा भट्ट के साथ फिल्म दिल है के मानता नहीं की," इसके बाद भी ख्वाहिश करते हैं कि काश उन्होंने श्रीदेवी के साथ काम किया होता.

Read More
Tags
Loading...

Recommended