PeepingMoon Exclusive: पोर्नोग्राफी बिजनेस मामले में राज कुंद्रा के खिलाफ 5 महीने से जांच कर रही थी क्राइम ब्रांच, जानिए इस खेल का पूरा 'कच्चा चिट्ठा'

By  
on  

एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा की गिरफ्तारी के बाद कई बड़े खुलासे हुए हैं. जांच में सामने आया है कि कुंद्रा को गिरफ्तार करने से पहले क्राइम ब्रांच की टीम ने 5 महीने तक कड़ी पड़ताल की है. क्राइम ब्रांच की टीम अश्लील फिल्में बनाने वाले गिरोह का सुराग तलाश रही थी, इसी दौरान राज कुंद्रा का नाम सामने आया था. कुंद्रा के खिलाफ 4 फरवरी 2021 को ही केस दर्ज कर लिया गया था. हालांकि, एक बयान के अलावा पुलिस के पास कुंद्रा के खिलाफ कुछ भी नहीं था, इसलिए उन्हें तब पकड़ा नहीं गया.

तीन दिन पहले मलाड पश्चिम के मड गांव में एक किराए के बंगले में छापा मारा गया और वहां से पुख्ता सबूत मिलने के बाद ही उन्हें गिरफ्तार किया गया. कुंद्रा पर अश्लील फिल्में बनाने और उन्हें कुछ ऐप के जरिए प्रसारित और शेयर करने का आरोप था. इस मामले में क्राइम ब्रांच टीम ने CR- 103/2021 दर्ज किया था. जिसमें IPC की धारा 292, 293, 420, 34 और आईटी एक्ट की धारा 67, 67ए और आईपीसी की धारा 420 शामिल थी. 

PeepingMoon Exclusive: पोर्नोग्राफी बिजनेस मामले में पति राज कुंद्रा के अरेस्ट होने के बाद मुंबई पुलिस शिल्पा शेट्टी कुंद्रा को भेज सकती है समन

5 महीने की जांच के दौरान यह पता चला कि अश्लील फिल्मों के रैकेट का मास्टरमाइंड राज कुंद्रा ही है. कुंद्रा की गिरफ्तारी के बाद सामने आया कि यह फिल्म निर्माण के लिए बने एक प्रोडक्शन हाउस की आड़ में एक बड़े पोर्न फिल्म रैकेट को चलाता था। इनकी फिल्मों में काम करने वाली ज्यादातार लड़कियां और लड़के स्ट्रगलिंग एक्ट्रेस और एक्टर होते थे.  ये 20 से 25 साल के कलाकारों को चुनते थे. शूटिंग से पहले ये कॉन्ट्रैक्ट साइन करवाते थे, इसमें अपनी मर्जी से फिल्म छोड़ने पर केस करने का क्लॉज था. पुलिस के मुताबिक, एक कलाकार को एक दिन का ये 30 से 50 हजार रुपए के बीच देते थे.

मढ़ के जिस बंगले पर मुंबई पुलिस ने छापा मारा था, उसे राज कुंद्रा की टीम ने 20 हजार रुपए प्रतिदिन के हिसाब से किराए पर लिया था. मालिक ने पुलिस को बताया है कि उनसे भोजपुरी और मराठी फिल्मों की शूटिंग करने के नाम पर बंगला किराए पर लिया गया था. शूटिंग के दौरान बंगले का मालिक और अन्य कर्मचारियों को दूर रहने के लिए कहा जाता था. शूटींग शुरु होने से पहले बंगले को चारो तरफ से नीले रंग के परदे से कवर कर लिया जाता था। बंगले के भीतर सेट बना हुआ था.

सूत्रों के मुताबिक, मुंबई पुलिस को दिए बयान में एक स्ट्रगलिंग मॉडल ने बताया कि फिल्मों में शामिल ज्यादातर लड़कियां मुंबई से बाहर की रहने वाली होती थी. सेलेक्शन से पहले सभी का प्रोफाइल शूट किया जाता था और कई बार उसने कैमरे के सामने कपड़े उतारने के लिए कहा जाता था. इस प्रोफाइल को एक सेलेक्शन टीम को भेजा जाता था. चुने जाने के बाद एक्ट्रेस को अलग-अलग जगहों पर शूट के लिए बुलाया जाता था. हालांकि, सेट पर ज्यादातार महिला कैमरामैन और महिला प्रोडूसर ही रहती थीं. शुरू में कुछ दिनों तक नॉर्मल शूट किया जाता था और फिर बोल्ड सीन के लिए दबाव बनाया जाता था.
 

मना करने पर कॉन्ट्रैक्ट की धमकी देते हुए जेल भेजने की बात कही जाती थी. कॉन्ट्रैक्ट में शूट बीच में छोड़ने पर शूटिंग का पूरा नुकसान भरने का क्लॉज था. एक मॉडल ने पुलिस को बताया कि उनके क्लाज में शूटिंग के दौरान नियम नहीं मानने पर 10 लाख रुपए देने का प्रावधान रखा गया था. एक मॉडल ने पुलिस को दिए बयान में कहा है कि शूटिंग का विरोध करने पर पहले उन्हें डराया गया और फिर नशीली कोल्डड्रिंक पिलाकर जबरदस्ती फिल्म को शूट किया गया. मॉडल को भी एक महीने बाद पता चला कि उनकी अश्लील फिल्म बनाई गई है.

एक्ट्रेस ने बताया कि उनका अश्लील वीडियो 'हिट एंड हॉट' नाम के ऐप पर अपलोड था. इसमें 200 रुपए का सबस्क्रिप्शन लेने के बाद वीडियो देखने को मिलता था. एक्ट्रेस ने इसके बाद पुलिस ने शिकायत दर्ज करवाई और मामले में जांच शुरू हुई. अपनी कंप्लेंट में एक्ट्रेस ने यह भी बताया कि उनके कई वीडियो टेलीग्राम पर भी सर्कुलेट किए गए हैं. इन सब चीजों से परेशान होकर एक्ट्रेस ने मुंबई छोड़ दिया है.

Read More
Tags
Loading...

Recommended