PeepingMoon Exclusive: अरशद वारसी और बरुन सोबती स्टारर 'असुर 2' की शूटिंग मुंबई में इस दिन से होगी शुरू

By  
on  

इंडिया की सबसे सबसे सफल वेब सीरीज में से एक 'असुर' अपने दूसरे सीजन के साथ वापस आ रही है. Peepingmoon.com को एक्सक्लूसिब जानकारी मिली है कि वूट सेलेक्ट की ये मोस्ट अवेटेड वेब सीरीज़ की शूटिंग इसी शनिवार यानि 10 जुलाई से मुंबई में शुरू होने वाली है. दूसरा सीजन पहले सीज़न 'असुर: वेलकम टू योर डार्क साइड' के 16 महीने बाद प्रोडक्शन में आ रहा है. पहले सीजन की अलग और अनूठी कहानी ने लोगों को चौंका दिया है. सीरीज काफी ट्वीट्स एंड टर्न से भरी हुई थी. ये शो पहले इस साल की शुरुआत में शुरू होने वाला था, लेकिन कोविड-19 लॉकडाउन के चलते शूटिंग में देरी हुई.

प्रोजेक्ट से जुड़े करीबी सूत्र ने बमे बताया कि, 'असुर एक क्लिफेंजर पर खत्म हुई थी. दूसरा सीज़न वहीं से शुरू होगा जहां से पहले का एंड हुआ था. और इस बार इसे और अधिक थ्रिलर हेगा. सीरीज के क्रिएटर गौरव शुक्ला ने अपनी रिसर्च से एक अनोखी स्क्रिप्ट लिखी है जो सस्पेंस और पहेलियों से भरी हुई है. दूसरे सीज़न में भी अनप्रिडिक्टेबल आस्पेक्ट्स होंगे, जिसे पहले कभी नहीं खोजा गया था. अरशद वारसी और बरुन सोबती जिन्होंने सीबीआई के दो फोरेंसिक ऑफिसर की भूमिका निभाई थी, अपनी बिल्ली और चूहे की दौड़ में धार्मिक संबंध रखने वाले क्रूर सीरियल किलर के साथ इस खेल में ऑडियंस हर मोड़ पर हैरान होगी. अनुप्रिया गोयनका और रिद्धि डोगरा के कैरेक्टर को भी बरकरार रखा गया है, वहीं प्रोजेक्ट में कई नए चेहरे भी दिखेंगे. जिसकी डिटेल्स अभी बाहर नहीं आई है.'

 

PeepingMoon Exclusive: इस स्पैनिश साइकोलॉजिकल थ्रिलर के हिंदी रीमेक में काम कर रहे हैं तापसी पन्नू और गुलशन देवैया

बॉम्बे फेबल्स मोशन पिक्चर और वायकॉम 18 स्टूडियोज के बैनर तले बन रहे इस प्रोजेक्ट का प्रीमियर इसी साल यानि 2021 के एंड या अगले साल की शुरुआत में होने की उम्मीद है. डायरेक्टर ओनी सेन कुछ महीनों से प्री-प्रोडक्शन पर काम कर रहे हैं और उन्होंने पूरी सीरीज को ढाई महीने के डायरेक्ट शेड्यूल में शूट करने की प्लानिंग बनाई है. गौरव शुक्ला, जो शो के क्रिएटर के चौर पर काम करते हैं, ने इस बार अभिजीत खुमान, अभिषेक गर्ग और चिराग सलियन के साथ मिलकर स्क्रिप्ट लिखी है.

अंत ही आरंभ की शुरुआत है, इसी एक वाक्य पर असुर वेब सीरिज की पूरी दुनिया टिकी है। भारत मायथॉलोजी से सम्पूर्ण देश है, ऐसे में क्रिएटिव दृष्टिकोण से देखें तो उस मायथॉलोजी को ध्यान में रखते हुए कई कहानियां गढ़ी जा चुकी हैं, लेकिन लम्बे अरसे के बाद या यूं कहें, असुर एक संपूर्ण मायथॉलोजी और साइकोलोजी का डेडली थ्रिलर है. सीरीज में वाराणसी की कहानी है. पंडित का घर, उसका बेटा, कर्मकांड कराने वाला परिवार, ब्राह्मण परिवार, बच्चे का जन्म और जन्म लेते मां का देहान्त, पिता द्वारा उसे बार-बार कोसा जाना कि वही अपनी मा का हत्यारा है, मगर उसे गीता, रामायण, महाभारत और वैसे अनेकों पुराण कंठस्थ हैं. पिता की नजर उसे पापी ही मानती है और हमेशा धिक्कार की नजर से ही देखती है, पिता का यही धिक्कार बच्चे की जिन्दगी में क्या टर्न लेता है, यहां से कहानी शुरू होते हुए महानगर की दुनिया में पहुंचती है. फोरेंसिक टीम का प्रमुख धनंजय ( अरशद वारसी), जिसे अपने काम के दौरान ही एक ऐसी हकीकत का सामना करना पड़ता है. इस कड़ी में निखिल ( बरुन ) और अन्य किरदार जुड़ते जाते हैं. एक मर्डर होता है, लेकिन वह सामान्य मर्डर नहीं है. हर किरदार की अपनी कहानी है, शक कहीं पर भी जाता है. दिलचस्प है कि कहानी के अगले सीजन के लिए बिल्कुल हाई पॉइंट पर छोड़ा गया है.

 

 

Read More
Tags
Loading...

Recommended