बॉलीवुड सिंगर B Praak परफॉरमेंस के दौरान हुए हादसे में एक कि मौत कई घायल, सिंगर ने कहा- दिल से दुख हो रहा है.. मैंने पहली बार ये देखा 

By  
on  

बॉलीवुड सिंगर B Praak परफॉरमेंस के दौरान एक बड़ा हादसा हो गया. दिल्ली के कालकाजी मंदिर में एक बड़ा हादसा हुआ. बीती रात मंदिर में माता जागरण का आयोजन किया गया. इसी दौरान वहां मौजूद जनता एक बड़े हादसे का शिकार हो गई. इस हादसे में एक महिला की मौत हो गई है. कई लोग बुरी तरह घायल भी हुए हैं. अब इस मामले में सिंगर B Praak ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है.

बी प्राक ने 27 जनवरी की रात को इंस्टाग्राम स्टोरी पर एक वीडियो पोस्ट करते हुए कालकाजी मंदिर में हुए हादसे को लेकर बात की है. उन्होंने कहा, 'बहुत ही दुख हुआ और बहुत ही दुखी हूं मैं, दिल से दुख हो रहा है क्योंकि पहली बार मैंने अपनी आंखों के सामने ऐसा कुछ होते देखा है, जहां मैं गा रहा हूं. मैं आज बहुत परेशान महसूस कर रहा हूं.'

'मां कालका मंदिर में आज जो भी हुआ बहुत ही दुख की बात है और जिनको भी लगी जिनको भी चोटें आई हैं, मैं उम्मीद करता हूं कि वो सब ठीक हो और बहुत जल्दी ठीक हो जाएं और मैं आगे से यहीं कहूंगा कि मैनेजमेंट बहुत जरूरी है. मैनेजमेंट ने वहां पर लोगों को समझाया भी बहुत कि आप पीछे हो जाएं पर ये आप सब लोगों का मां के लिए प्यार है, मेरे लिए प्यार है.'

'हमें आगे से बहुत ध्यान रखना है, बच्चों का, बुजुर्गों का, क्योंकि जान से बढ़कर कुछ भी नहीं है इस दुनिया में और कभी हो ही नहीं सकता. तो हमें इसका बहुत ध्यान रखना है कि कभी किसी की जान को ना पड़े. बी प्राक ने आखिर में कहा कि जब मां कि इच्छा होगी तो वे फिर आएंगे लेकिन तब बहुत ध्यान रखना पड़ेगा.' 

बता दें कि इस पूरी घटना के दौरान मशहूर सिंगर बी प्राक वहां मौजूद थे. जानकारी के मुताबिक, जैसे ही गायक मंच पर आए, उन्हें देखने के लिए भारी भीड़ जमा हो गई. बताया जा रहा है कि भीड़ उनके करीब जाने की कोशिश कर रही थी, जिससे मंच पर दबाव बढ़ गया था. एनआई ने ट्वीट कर मामले की जानकारी देते हुए लिखा, '27 जनवरी की आधी रात को महंत परिसर, कालकाजी मंदिर में माता जागरण में लकड़ी और लोहे के फ्रेम से बना एक मंच गिरने से 17 लोग घायल हो गए और एक की मौत हो गई है.

कार्यक्रम आयोजित करने की कोई अनुमति नहीं दी गई थी. हालांकि, कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पर्याप्त कर्मचारी तैनात किए गए थे. वहां करीब 1500-1600 लोगों की भीड़ थी . क्राइम टीम ने घटनास्थल का दौरा किया. अन्य सभी घायलों की हालत स्थिर है, जबकि कुछ को फ्रैक्चर हुआ है. इस मामले में आयोजकों (organizers) के खिलाफ आईपीसी की धारा 337/304A/188 के तहत मामला दर्ज किया जा रहा है.कालकाजी मंदिर में पिछले 26 सालों से माता जागरण का आयोजन किया जा रहा है.

ये पूरा हादसा रात करीब 12:30 बजे हुआ. आयोजकों के मुताबिक, मंच के पास एक ऊंचा मंच बनाया गया था, जहां वीआईपी के लिए बैठने की व्यवस्था की गई थी। लेकिन मंच पर बहुत ज्यादा लोग चढ़ गए थे, इसलिए ये हादसा हो गया. हादसे के दौरान जो लोग घायल हुए उन्हें तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया.

Read More
Tags
Loading...

Recommended