राजु श्रीवस्तव की संघर्ष से लेकर सफलता से जुड़ी जानें अनकहीं बातें

By  
on  

मशहूर कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव अब हमारे बीच नहीं रहें। लेकिन राजू श्रीवास्तव कॉमेडी की दुनिया में एक बड़ा नाम थें। हालांकि इस मुकाम तक उनके लिए पहुंचना जरा भी आसान नहीं रहा हैं क्योंकि वो जिस फैमिली से आते थे उसकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी और इसके कारण उन्होंने बचपन में काफी संघर्ष किया था। लेकिन अपने मजबूत इरादों के चलते उन्होंने कुछ बड़ा करने की ठानी और अपने घर से भाग गए। आज इसी के चलते दुनियाभर में राजू श्रीवास्तव की एक अलग पहचान है। तो आज उन्हें याद करते हुए उनकी जिंदगी के कुछ पहलुओं पर नजर डालते है।

1- राजू श्रीवास्तव का नाम कैसे पड़ा
राजू श्रीवास्तव का जन्म 25 दिसम्बर सन 1963 को उत्तर प्रदेश के कानपुर में हुआ था. उनका बचपन का नाम सत्यप्रकाश श्रीवास्तव है, लेकिन मुंबई आने के बाद उन्होंने अपना नाम राजू रख लिया था और अब लोग इन्हें राजू श्रीवास्तव के नाम से ही जानते हैं। अब राजू अपने इसी नाम से देश और विदेश में जाने जाते हैं।

2- कैसे की कॉमेडी की शूरुआत 
राजू श्रीवास्तव  ने सन 1993 से कॉमेडी की दुनिया में कदम रखा था। लेकिन उन्हें असली पहचान साल 2005 में आए कॉमेडी रिएलिटी शो 'द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज' से मिली थी। इस शो में उनके कमाल के प्रदर्शन से वे छा गए। इस शो के जरिए भारत के बाहर भी उन्होंने खूब नाम कमाया। वो कई देशों में स्टेज शो कर चुके हैं। कॉमेडी के चलते उन्हें पाकिस्तान से धमकी भरे फोन आए और जिसमें उन्हें चेतावनी दी गई कि वह अपने शो के दौरान अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम और पाकिस्तान पर मजाक न करें।

3- राजू और बिग बी 
राजू श्रीवास्तव के अंदर मिमिक्री करने का टैलेंट भी खूब था। राजू अक्सर बॉलीवुड के शहंशाह की मिमिक्री  थे और इतनी अच्छी तरह से करते थे कि लोगों को धोखा होने लगता है कि वे असली अमिताभ को देख रहे हैं, या राजू श्रीवास्तव को। वैसे वो कई एड फिल्म्स में अमिताभ की आवाज में डबिंग कर चुके हैं।

4- राजू का फिल्मी करियर 
राजू ने फिल्म तेजाब से बॉलीवुड में अपने अभिनय करियर की शुरुआत की। इस फिल्म को साल 1988 में रिलीज किया गया था। उसके बाद राजू ने कई बॉलीवुड फिल्मों जैसे मैंने प्यार किया, बाजीगर, आमदनी अठन्नी खर्चा रुपया, बिग ब्रदर, बॉम्बे टू गोवा में अहम भूमिका निभाई। इसके अलावा उन्होंने टीवी सीरियल्स शक्तिमान, बिग बॉस, कॉमेडी का महा मुकाबला, कॉमेडी सर्कस, कॉमेडी नाइट्स विद कपिल में भी देखा गया।

5-राजू का किरदार गजोधर
राजू अपनी कॉमेडी में गजोधर भइया के किरदार का जिक्र अक्सर किया करते थे। लेकिन क्या आप जानते है कि ये किरदार हकीकत में है। दरअसल उनके ननिहाल में एक गजोधर नाम का शख्स है, जो बचपन में राजू के बाल काटता था. उन्होंने उसे ही देखकर अपने इस किरदार की रचना की। गजोधर के वो जितने भी किस्से सुनाते थे, सभी सही थे। गजोधर नाम के शख्स को उन्होंने पूरी दुनिया में फेमस कर दिया।

6- पॉलिटिकल करियर
कॉमेडियन के अलावा राजू एक पॉलिटिशियन भी थे। उन्होंने समाजवादी पार्टी के साथ अपने राजनीति करियर की शुरुआत की थी। साल 2014 के लोकसभा में यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने उन्हें कानपुर लोकसभा सीट से मैदान में उतारा था. हालांकि बाद में 11 मार्च 2014 को उन्होंने टिकट वापस कर दिया और कहा कि उन्हें पार्टी की लोकल यूनिट्स से पर्याप्त समर्थन नहीं मिला है। जिसके बाद में वह 19 मार्च 2014 को भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए।

राजू श्रीवास्तव के परिवार और सभी फैन्स को उनके निधन की खबर ने तोड़कर रख दिया है और जो अब हमेशा अपने कॉमेडी स्टार की कॉमेडी को मिस करने वाले है।
 

Read More
Tags
Loading...

Recommended