'दिल्ली 6' की असफलता से टूट गए थे निर्देशक राकेश ओमप्रकाश मेहरा, खुद को करना चाहते थे ख़त्म

By  
on  

हाल ही में रिलीज हुयी अपनी ऑटोबायोग्राफी  'द स्ट्रेंजर इन द मीरर' में निर्देशक राकेश ओमप्रकाश मेहरा ने कई दिलचस्प खुलासे किये है. सोनम कपूर और अभिषेक बच्चन स्टारर 'दिल्ली 6' से निर्देशक राकेश को बहुत उम्मीदें थी लेकिन बॉक्स ऑफिस पर यह फ्लॉप हो गयी. फिल्म की असफलता को वह बर्दाश्त नहीं कर पाए और अंदर से बहुत टूटू गए थे. वह शराब के आदि हो गए थे और खुद को ख़त्म करना चाहते थे. 

राकेश ओमप्रकाश मेहरा ने अपने किताब में बताया कि फिल्म दिल्ली-6 के फ्लॉप होने पर वह अंदर से काफी टूट गए थे. इतना ही नहीं इस फिल्म के फ्लॉप होने के बाद वह शराब में इतना डूब गए थे कि खुद को खत्म करना चाहते थे. अंग्रेजी वेबसाइट टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक राकेश ओमप्रकाश मेहरा ने अपनी किताब में लिखा है कि दिल्ली-6 के फ्लॉप होने के बाद वह 6 महीने तक शराब पीने में डूब गए थे.

मेहरा ने कहा, 'फिल्म ने शुक्रवार, 20 फरवरी 2009 को शानदार प्रतिक्रिया के साथ शुरुआत की. रविवार तक, हमने ₹40 करोड़ से ज्यादा का कारोबार कर लिया था, लेकिन फिर सोमवार आया, और दर्शक सिनेमाघरों से गायब हो गए. मैं बर्बाद हो गया था. बॉक्स ऑफिस पर हार और उसके साथ मेरे अपने संघर्ष ने मुझे गहराई से झकझोर दिया था. मुझसे महसूस होने लगा कि क्या मैं लगातार बेहतरीन सिनेमा बनाने में सक्षम था? क्या रंग दे बसंती एक ढोंगी थी?'

 

मेहरा ने किताब 'द स्ट्रेंजर इन द मिरर' के जरिए बताया कि उन्हें जान से मारने की धमकियां मिलने लगी थीं. ओमप्रकाश मेहरा ने किताब में कहा, 'मैं एक अंधेरे में जा रहा था. मैं अपनी असफलता को स्वीकार करने में असमर्थ था, मैंने खुद को शराब में डुबो दिया था और मैं मेरी मौत तक पीना चाहता था.'

किताब में आगे लिखा, 'मैं कभी न उठने के लिए सोना चाहता था. मैं मेरी पत्नी और हमारी बेटी को दर्द दे रहा था. हमारे बीच चीजें खराब हो रही थीं. मैं उन लोगों के प्रति लापरवाह और असंवेदनशील रहा जिन्हें मैं सबसे ज्यादा प्यार करता था.'

दिल्ली-6 में अभिषेक बच्चन और सोनम कपूर ने मुख्य भूमिका निभाई थी. फिल्म धार्मिक विवाद पर केंद्रित थी. फिल्म में अदिति राव हैदरी, वहीदा रहमान, ऋषि कपूर, सुप्रिया पाठक, अतुल कुलकर्णी, पवन मल्होत्रा, दीपक डोबरियाल, दिव्या दत्ता, विजय राज और ओम पुरी ने सहायक भूमिका निभाई थी. फिल्म ने दो राष्ट्रीय पुरस्कार जीते - सर्वश्रेष्ठ प्रोडक्शन डिजाइन और सर्वश्रेष्ठ फीचर फिल्म के लिए नरगिस दत्त पुरस्कार. 

Read More
Tags
Loading...

Recommended