'अगर आप नॉर्थ ईस्ट से हैं तो आप भारतीय तभी बन सकते हैं जब आप देश के लिए मेडल जीतेंगे': मिलिंद सोमन की पत्नी अंकिता कोंवर

By  
on  

हाल ही मेंटोक्यो ओलंपिक में भारत के हाथ बड़ी सफलता लगी. भारत की वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने देश को सिल्वर मेडल देकर गर्व से सर ऊंचा किया.  मीराबाई ने 49 किग्रा वर्ग में दूसरा स्थान हासिल किया था. मीराबाई ने 202 के कुल वजन के साथ दूसरा स्थान हासिल किया था. इसी के साथ मीराबाई ओलंपिक में पदक जीतने वाली भारत की दूसरी महिला बनीं. मीराबाई चानू भारत के इंफाल की रहने वाली हैं. मीरा की इस जीत से जहां हर कोई खुश है तो वहीं मिलिंद सोमन की पत्नी अंकिता कोंवर ने कुछ ऐसा कहा जो एक कड़वा सच है. अंकिता ने नॉर्थ ईस्ट भारतीयों के साथ भेदभाव करने वाले लोगों की आलोचना की साथ ही कहा कि अगर आप नॉर्थ ईस्ट से हैं तो आप भारतीय तभी बन सकते हैं जब आप देश के लिए मेडल जीतेंगे.

अंकिता ने अपने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर किया जिसमें उन्होंने भारत नस्लवाद से 'पीड़ित' है और उन्होंने  नॉर्थ ईस्ट भारतीयों के साथ भेदभाव करने वाले लोगों को 'पाखंडी' भी कहा. अंकिता ने अपनी पोस्ट में लिखा कि, 'अगर आप नॉर्थ ईस्ट भारत से हैं तो आप भारतीय तभी बन सकते हैं जब आप देश के लिए मेडल जीतेंगे. वरना हम 'चिंकी', 'चीनी' 'नेपाली' या एक नए अतिरिक्त 'कोरोना' के रूप में जाने जाते हैं. भारत न केवल कास्टीज्म से बल्कि जातिवाद से भी पीड़ित है. ये मैं अपने अनुभव से बोल रही हूं.'. 

Tokyo Olympic 2020: वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने सिल्वर मेडल जीतकर रचा इतिहास, पीएम नरेंद्र मोदी से लेकर सचिन तेंदुलकर और अनुष्का शर्मा ने कहा- 'गर्व है'

अंकिता की इस पोस्ट पर यूजर्स ने मिली जुले रिएक्शन्स दिए है. कई यूजर्स ने अंकिता की पोस्ट को सपोर्ट किया तो कई लोगों ने अंकिता की सोच को ही गलत बता दिया. 
बता दें कि, मिलिंद सोमन और अंकिता कोंवर दोनों ही सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं. अंकिता अक्सर कई मुद्दों को लेकर सोशल मीडिया पर अपने विचार रखती है. वहीं हाल ही में मिलिंद सोमन और अंकिता ने अपनी शादी की तीसरी सालगिरह भी सेलिब्रेट की थी. 
(Source: Instagram)

Read More
Tags
Loading...

Recommended