Theatre vs OTT: 'सूर्यवंशी' से लेकर 'द गर्ल ऑन द ट्रेन' तक, जानिए सभी 2021 रिलीज में से किसे मिलनी चाहिए थिएट्रिकल रिलीज, तो किसे अपनाना चाहिए डिजिटल का रास्ता

By  
on  

बॉलीवुड में 2019 के बाद से सबसे ज्यादा चर्चा में रहने वाली फिल्मों में से एक सुपरस्टार अक्षय कुमार की 'सूर्यवंशी', शायद OTT रिलीज के लिए जाएगी, अगर इसके मेकर्स और थिएटर मालिकों के बीच बातचीत विफल हो जाती है. ऐसे में ट्रेड पंडित अनिच्छा से स्वीकार कर रहे हैं कि लॉकडाउन के बाद सभी फिल्मों को थिएट्रिकल रिलीज देने की जरुरत नहीं है. उनके मुताबिक, छोटी फिल्मों को OTT पर रिलीज करना बेहतर है. केंद्र ने आखिरकार Covid प्रोटोकॉल को बनाए रखते हुए सिनेमाघरों को 100% क्षमता पर संचालित करने की अनुमति दे दी है. लेकिन सूर्यवंशी, मैदान और 83 जैसी फिल्में जिन्हे बड़े बजट के साथ बिग स्क्रीन पर अनुभव करने के लिए बनाया गया है, वह नवंबर में 50% की क्षमता पर खुलने वाले थिएटरों को मिले रिस्पांस से नाखुश हैं.

यह कैच -22 स्थिति है. किसी भी बड़े प्रोड्यूसर ने 50% बैठने की क्षमता पर थिएट्रिकल रिलीज का जोखिम नहीं उठाया, हालांकि तब लॉकडाउन पूरी तरह से नहीं उठा था. ऐसे में 'सूरज पे मंगल भारी, मैडम मुख्यमंत्री, राम प्रसाद की तेहरवी, इंदु की जवानी और कागज़ जैसी छोटी फिल्मों ने बहादुरी से काम लिया. हालांकि, दर्शकों यह फ़िल्में दर्शकों को रिझा नहीं पाईं. यह, प्री-वैक्सीन के दिन थे, जब लोग कोरोना के डर के साए में जीने को मजबूर थे. अगर लोग रिस्क लेते हुए बाहर आते भी तो, वह सिर्फ अक्षय कुमार, अजय देवगन, बॉलीवुड खान और अन्य ए-लिस्टर्स के लिए ही होता. ना की छोटे स्टार्स के लिए. इसलिए शो खाली दौड़ता दिखा.

(यह भी पढ़ें: Exclusive: अगर प्रोड्यूसर्स और थिएटर मालिकों की बात बनीं तो 2 अप्रैल के पहले 'सूर्यवंशी' हो सकती है रिलीज, वर्ना ओटीटी पर आ सकती है फिल्म)

इसी बीच बॉलीवुड के भाईजान सलमान खान ने फैंस का दिल रखते हुए गतिरोध को तोड़ने का फैसला किया और घोषणा की कि उनकी एक्शन फिल्म 'राधे: योर मोस्ट वॉन्टेड भाई' को 14 मई को ईद के मौके पर सिनेमाघरों में रिलीज किया जाएगा.जॉन अब्राहम के विजिलेंट सीक्वल सत्यमेव जयते 2 के मेकर्स ने भी उनकी रिलीज़ के लिए उस तारीख को चुना. 2020 में अपनी रिलीज को रोकी हुईं कई फिल्में फिलहाल बॉक्स ऑफिस के टिकट खिड़की पर नजर गड़ाए हुए हैं, क्योंकि सिनेमाघर 100% क्षमता पर चलने के लिए तैयार हैं. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या यह OTT के लिए स्वाभाविक मौत का संकेत होगा? इनमें से कुछ फ़िल्में बड़ी कमाई वाली होंगी जो दर्शकों को सिनेमाघरों तक खींचेगी. अगर वे डिजिटल प्लेटफॉर्म पर रिलीज होते हैं तो दूसरे बेहतर कर सकते हैं.

ट्रेड पंडितों, वितरकों, और निर्माताओं से बात करने के बाद, PeepingMoon.com ने उन फिल्मों की एक सूची तैयार की है, जो भीड़ को सिनेमाघरों तक खींचेगी और जो अपने लक्षित दर्शकों और बेहतर व्यवसाय को ऑनलाइन पाएंगी. इनमें से कुछ ने पहले ही कई स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म पर रिलीज के लिए अपने स्लॉट बुक कर लिए हैं. चलिए आपको बताते हैं, कौन सी फिल्मों को होना चाहिए थिएटर्स में रिलीज, तो किसे अपनाना चाहिए OTT का रास्ता:

थिएटर 

सूर्यवंशी 
राधे: योर मोस्ट वॉन्टेड भाई
83
RRR
मैदान

KGF: चैप्टर 2 
सत्यमेव जयते 2
जर्सी
हीरोपंती 2
लाल सिंह चड्ढा
बेल बॉटम


ब्रह्मास्त्र
पृथ्वीराज
पठान
सर्कस 
जयेशभाई जोरदार


थलाइवी
गंगूबाई काठियावाड़ी
अंतिम: द फाइनल ट्रुथ
चंडीगढ़ करे आशिकी
भूल भुलैया 2 


दोस्ताना 2 
रणबीर कपूर-श्रद्धा कपूर की फिल्म
धाकड़ 
बंटी और बबली 2
तूफान 
अतरंगी रे


जुग जुग जियो 
फ़ोन भूत 
सरदार उधम 
दीपिका पादुकोण स्टेरिंग शकुन बत्रा की अनटाइटल्ड फिल्म
तड़प 
राम सेतु


लिगर 
ओम 
शर्माजी नमकीन
शमशेरा
रक्षाबंधन
विक्की कौशल और मानुषी छिल्लर की अनटाइटल्ड फिल्म

OTT

द गर्ल ऑन द ट्रैन 


मुंबई सागा 
द बिग बुल 
धमाका 
तेजस 
बॉब बिस्वास
रश्मि रॉकेट
भुज: द प्राइड ऑफ इंडिया 


अनेक
संदीप और पिंकी फरार
बधाई दो 
शाबाश मिठू 
चेहेरे
लूप लापेटा
हसीन दिलरुबा
डॉक्टर जी
ब्लाइंड 
गुड लक जेरी


विलन 2 
शेरशाह 
हाथी मेरे साथी

Read More
Tags
Loading...

Recommended