रेमो डिसूजा ने बताई हार्ट अटैक वाले दिन की कहानी, मदद करने के लिए सलमान खान का किया शुक्रिया अदा

By  
on  

हाल ही में डायरेक्टर और कोरियॉग्राफर रेमो डिसूज़ा को हार्ट अटैक की वजह से हॉस्पिटलाइज करना पड़ा था. वहीं अब रेमो की तबीयत पहले से काफी बेहतर हो गई है, साथ ही हॉस्पिटल से भी उन्हे डिस्चार्ज कर दिया गया है. हाल ही में एक लीडिंग वेबसाइट से बात करते हुए  रेमो ने हार्ट अटैक से ठीक पहले और बाद में क्या हुआ ता इसकी पूरी कहानी बताई. साथ ही रेमो ने मुश्किल धड़ी में साथ देने के लिए सलमान खान का शुक्रिया अदा किया. 

एक लीडिंग वेबसाइट से बात करते हुए रेमो डिसूजा  ने सलमान खान को धन्यवाद देते हुए कहा कि, 'हम उन्हें एक फरिश्ता कहते हैं और उनके पास सोने का दिल है. मैंने उनके साथ काम किया है और मैं जानता हूं कि वह किस तरह के अनमोल रत्न हैं. सलमान और मैं ज्यादा बात नहीं करते, मेरी बस उनसे ओके सर, यस सर की तरह ही बात होती थी. असल में मेरी पत्नी और सलमान काफी क्लोज हैं. जैसे ही मैं हॉस्पिटल में भर्ती हुआ, लिजैल ने सलमान खान को कॉल किया. जितने छह दिन मैं हॉस्पिटल में था, उन्होंने यह देखा कि मेरा अच्छे से ख्याल रखा जा रहा है या नहीं. यहां तक कि उन्होंने डॉक्टर से भी व्यक्तिगत रूप से बात की.'

Recommended Read: कोरियोग्राफर-निर्देशक रेमो डिसूजा को हार्ट अटैक के बाद कोकिलाबेन अस्पताल में कराया गया भर्ती, हालत स्थिर


रेमो डिसूजा ने हार्ट अटैक के बारे में बात करते हुए कहा, 'यह एक आम दिन की तरह था. मैंने अपना ब्रेकफास्ट किया और जिम गया. लिजेल (वाइफ) और मेरा ट्रेनर एक ही है, जो ऑलरेडी वहां उन्हें ट्रेनिंग दे रहे थे. इसलिए मैं अपने टर्न का इंतजार कर रहा था और इसी दौरान मैं ट्रेडमील पर ब्रिस्ट वॉक करने लगा और फोम रोलर पर स्ट्रेच किया. इसके बाद मैं बैठ गया अपने टर्न का इंतजार करने लगा। जैसे ही लिजेल का टर्न खत्म हुआ मैं उठा, लेकिन इसी के साथ मुझे सीने के बीच में दर्द शुरू हो गया. मुझे लगा कि शायद यह एसिडिटी की दिक्कत है. इसलिए मैंने पानी पिया, लेकिन दर्द बना रहा, इसलिए मैंने ट्रेनर को कहा कि हमें आज की ट्रेनिंग कैंसिल करनी पड़ेगी.'

रेमो ने आगे कहा, 'जब मैं और लिजेल ऊपर जाने के लिए लिफ्ट के पास गए, मैंने बटन दबाया और फिर मैं नीचे बैठ गया. जैसे ही मैं लिफ्ट से बाहर कि खांसने लगा और वॉमिट करना चाहता था. लिजेल ने मेरा स्मार्ट वॉट देखा, जो हार्टबीट और ईसीजी स्क्रीन को दिखा रहा था और मेसेज लिखा था- क्या आप ठीक नहीं हैं? यह दर्द ऐसा था कि मैंने लाइफ में कभी ऐसा दर्द नहीं झेला था. जब हॉस्पिटल पहुंचा तो हमें डॉक्टर ने बताया कि यह मेजर हार्ट अटैक था.'

रेमो ने बताया कि यह पूरा वक्त उनकी लाइफ का काफी डरावना हिस्सा था. उन्होंने कहा, 'मुझे बताया गया कि मेरा दाएं आर्टरी में 100% ब्लॉकेज था. सामान्य तौर पर एक नॉर्मल इंसान का हार्ट 55% पर काम करता है और जब मैं हॉस्पिटल पहुंचा तो मेरा हार्ट 25 % काम कर रहा था. ये मेरा साथ कैसे हो गया? मैं वक्त वक्त पर अपना बॉडी चेक करता रहता हूं. हो सकता है यह हेरिडेटरी हो, प्री-वर्कआउट सेशन या वर्क स्ट्रेस की वजह से हो. काफी लोगों को लग रहा था कि मैं स्टेरॉइड्स लेता हूं जो कि बिल्कुल सही नहीं है. मैं नेचुरल बॉडी में यकीन करता हूं.' रेमो इस वक्त अपने गोरेगांव वाले घर पर आराम कर रहे हैं. अपने डाइट को लेकर बातें करते हुए उन्होंने कहा, 'खाने को लेकर इस वक्त काफी ध्यान रखना है, मेरे खाने में तेल, नमक और मीठा बिल्कुल नहीं होना चाहिए. करीब 2 महीने तक कोई वर्कआउट नहीं करना है मुझे, न तो ड्राइव और न ही कोई काम.. केवल आराम करना है.' 

रेमो ने आगे अपने दोस्तों और फैंस की दुआओं के लिए शुक्रिया अदा करते हुए कहा, 'मुझे लगता है कि लोगों की प्रार्थना औऱ आशीर्वाद ने मुझे बचा लिया.  मैंने महसूस किया कि जीने के लिए हमारे पास एक ही जिंदगी है. जब मैं हॉस्पिटल में था और आंखें बंद की तो लगने लगा कि यदि मैं चला गया तो मुझे कुछ दिन लोग याद रखेंगे और फिर मुझे भूलने लगेंगे. इसलिए यह एक जिंदगी बेहद कीमती गिफ्ट है. आपको सोचने की जरूरत है कि इसे कैसे जीना है. मुझे यह भी एहसास हुआ कि आपको हर किसी से प्यार करना चाहिए, नफरत के लिए कोई जगह न हो. सबसे अहम आपकी फैमिली है. मैं अपनी वाइफ को सैंटा क्लॉज़ कहता हूं, जो मेरे साथ खड़ी रहीं. मेरे दोस्तों ने भी मेरा भरपूर ख्याल रखा.'

(Source: TOI)

Read More
Tags
Loading...

Recommended