वीडियो में जातिवाद भाषा का इस्तेमाल करने पर युविका चौधरी को किया गया गिरफ्तार, मिली अंतरिम जमानत

By  
on  

सोमवार को 'बिग बॉस 9' फेम युविका चौधरी पर अनुसूचित जाति समाज के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी कर एससी एसटी एक्ट के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. युविका जब हिसार हांसी थाने पहुंची तो उनके साथ 10 बाउंसर की फौज और पति प्रिंस नरूला भी थे. हांसी में डीएसपी ऑफिस में बैठाकर 3 घंटे तक उनसे पूछताछ हुई. बाद में उन्हें जमानत मिल गई.  

दरअसल, युविका का यह मामला 25 मई का है जब अपने ब्लॉग में उन्होंने एक वीडियो जारी कर अनुसूचित जाति पर अपमानजनक टिप्पणी की थी. जिसके बाद दलित अधिकार कार्यकर्ता रजत कल्सन ने हांसी थाने में एक्ट्रेस के खिलाफ एससी-एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कराया था. 

वीडियो वायरल होता देखा युविका ने माफ़ी मांगते हुए अपने बयान में कहा, 'नमस्कार दोस्तों, मुझे उस शब्द का अर्थ नहीं पता था जो मैंने अपने पिछले व्लॉग में इस्तेमाल किया था. मेरा मतलब किसी को चोट पहुंचाना नहीं था और मैं किसी को चोट पहुंचाने के लिए ऐसा कभी नहीं कर सकती. मैं सभी से माफी मांगती हूं, मुझे आशा है कि आप समझ गए होंगे. आप सभी को प्यार. 

 

 

युविका के वकील अशोक बिश्नोई ने एक मीडिया एजेंसी से कहा, 'मेरी मुवक्किल उच्च न्यायालय द्वारा दिए गए दिशानिर्देशों के अनुसार जांच में शामिल हो गयी है और वह अभी अंतरिम जमानत पर है (सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अनुसूचित जाति के खिलाफ कथित आपत्तिजनक टिप्पणी के मामले में) युविका के खिलाफ दलित अधिकार कार्यकर्ता रजत कल्सन ने अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम की धारा 3 के तहत मामला दर्ज किया था.

Read More
Tags
Loading...

Recommended