सुधा चंद्रन से मांगी CISF ने माफी, एयरपोर्ट पर हुई थी एक्ट्रेस की आर्टिफिशियल लिंब की चेकिंग

By  
on  

एक्ट्रेस और डांस सुधा चंद्रन ने अपने कृत्रिम अंग के कारण की गयी ग्रिलिंग' के कारण हवाई अड्डे पर अपनी पीड़ा साझा की. जिसके बाद, केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) ने सोशल मीडिया पर माफी जारी की है. उन्होंने वादा किया है कि वे इस मामले को देखेंगे और "जांच करेंगे कि संबंधित महिला कर्मियों ने एक्ट्रेस से प्रोस्थेटिक्स को हटाने की रिक्वेस्ट क्यों किया."

सुधा की शिकायत के जवाब में जहां उन्होंने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को भी टैग किया, CISF ने लिखा, "सुधा चंद्रन को हुई असुविधा के लिए हमें बेहद खेद है. प्रोटोकॉल के अनुसार विशेष परिस्थितियों में ही सुरक्षा जांच के लिए प्रोस्थेटिक्स को हटाया जाना है."

आगे लिखा गया है, "हम इस बात की जांच करेंगे कि क्यों महिला कर्मियों ने सुश्री सुधा चंद्रन से प्रोस्थेटिक्स को हटाने का अनुरोध किया. हम सुश्री सुधा चंद्रन को आश्वस्त करते हैं कि हमारे सभी कर्मियों को प्रोटोकॉल पर फिर से संवेदनशील बनाया जाएगा ताकि यात्रा करने वाले यात्रियों को कोई असुविधा न हो."

CISF ने मांगी माफी

(एयरपोर्ट सिक्योरिटी द्वारा आर्टिफिशियल लिंब की चेकिंग से परेशान हुई सुधा चंद्रन, पीएम मोदी से की सीनियर सिटीजन को कार्ड देने की अपील)

इंस्टाग्राम पर वीडियो शेयर करते हुए सुधा चंद्रन ने कहा, 'गुड इवनिंग, मैं जो कहने जा रही हूं, यह बेहद ही पर्सनल नोट है. मैं अपनी बात अपने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से कहना चाहती हूं. मैं यह अपील राज्य और केंद्र सरकार दोनों से भी करना चाहती हूं. मैं सुधा चंद्रन हूं, प्रोफेशनल डांसर और एक्ट्रेस हूं. मैंने आर्टिफिशियल लिंब के सहारे डांस किया और इतिहास रचा, मैंने देश को गौरवान्वित किया है. लेकिन हर बार जब प्रोफेशनल विजिट के लिए मैं हवाई यात्राओं पर जाती हूं तो हर बार एयरपोर्ट पर मुझे रोक दिया जाता है '. 

उन्होंने आगे कहा, 'जब मैं सुरक्षा में तैनात सीआईएसएफ अधिकारियों से अनुरोध करती हूं कि कृपया मेरे कृत्रिम अंग को ईटीडी (विस्फोटक ट्रेस डिटेक्टर) से चेक करें, तब भी वह यही चाहते हैं कि मैं अपने आर्टिफिशियल लिंब को निकालकर उन्हें दिखाऊं. क्या यह मानवीय रूप से संभव है मोदी जी? क्या यही हमारा देश है? क्या यही वह सम्मान है जो एक महिला हमारे समाज में दूसरी महिला को देती है? मोदी जी से मेरा विनम्र अनुरोध है कि कृपया वरिष्ठ नागरिकों को एक कार्ड दें, जिसमें लिखा हो कि वे वरिष्ठ नागरिक हैं. उसमें लिखा हो कि ये स्पेशली चैलेंज्ड हैं. ये बहुत शर्मनाक भी होता है कि मैं बार-बार एक ही प्रक्रिया को दोबारा करूं.' चंद्रन ने कहा कि उन्हें हर बार एयरपोर्ट सिक्योरिटी से गुजरना पसंद नहीं है और उन्होंने केंद्र सरकार से जल्द कार्रवाई करने का अनुरोध किया.

(Source: Tweet)

Read More
Tags
Loading...

Recommended