Video: 'इरफान अगर ऍल पचिनो या रॉबर्ट डी नीरो की उम्र में होते तो सोचो वो क्या करते, वर्ल्ड सिनेमा के लोग उनके काम पर रिसर्च कर रहे होते'- जयदीप अहलावत

By  
on  

पिछले साल 29 अप्रैल को अभिनेता इरफान खान ने हमेशा के लिए इस दुनिया को अलविदा कह दिया था. लेकिन आज भी इस बात पर यकीन कर पाना मुश्किल सा लगता है. मनमौजी, बेबाक और एक खुशमिजाज कलाकार जाते-जाते हर किसी की आंखें नम कर गया. अपनी आंखों में कई ख्वाहिशें रखने वाले इरफान जब पर्दे पर आते थे तो हर एक संवाद का एहसास उनकी आंखों से भी झलकता था. वहीं इरफान की फर्स्ट डेथ एनिवर्सरी पर वेब सीरीज ‘पाताल लोक’ में हाथी राम चौधरी की भूमिका निभाने वाले कलाकार जयदीप अहलवात ने महान कलाकाल को याद किया है. जयदीप ने पीपिंगमून. कॉम से खास बातचीत के दौरान बताया की वे इरफ़ान को अपना गुरु मानते है. दिवंगत अभिनेता के बारे में बात करते हुए जयदीप भावुक हो गए और खुलासा किया कि उन्हें विशाल द्वारा निर्देशित फिल्म में एक भूमिका की पेशकश की गई थी.

जयदीप ने आगे कहा कि लेंथ की परवाह किए बिना वह फिल्म करने के लिए बेताब थे. विशाल जी एक फिल्म बना रहे थे जिसमें दीपिका और इरफ़ान साहब थे. मैं उसके लिए ऑडिशन दे रहा था. उसी दौरान ये पता चला कि वो बीमार है. मैं वो ऑडिशन शिद्दत से देने की कोशिश कर रहा था और हर दिन प्रे कर रहा था की चाहे चार सीन्स हो या खराब एक्टिंग हो, मुझे मिल जाए पर नहीं हुआ. 

पहली पुण्यतिथि पर बाबिल ने शेयर की इरफ़ान की अनसीन फोटो, जर्नल्स लिखने के लिए अस्पताल में बनाया था टेबल 


वहीं इस दौरान जयदीप ने ये भी कहा कि, 'इरफान अगर ऍल पचिनो या रॉबर्ट डी नीरो की उम्र में होते तो सोचो वो क्या करते, वर्ल्ड सिनेमा के लोग उनके काम पर रिसर्च कर रहे होते' वहीं बता दे कि अपने पिछले सभी इंटरव्यूज और अवॉर्ड सेरेमनीज में, जयदीप ने अपनी सफलता के लिए इरफान को श्रेय दिया और 'पाताललोक' के लिए जीते गए सभी पुरस्कारों को समर्पित किया.  

Read More
Tags
Loading...

Recommended